Breast cancer in Hindi । ब्रैस्ट कैंसर की पूरी जानकारी हिंदी में

Breast cancer in Hindi/ब्रैस्ट कैंसर की पूरी जानकारी हिंदी में /What is breast cancer in Hindi?

Breast cancer ब्रैस्ट कैंसर की संपूर्ण गाइड।

इसे पढ़ने के बाद आपको निम्नलिखित चीजों की जानकारी प्राप्त होगी।

Symptoms of breast cancer /ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण
Types of breast cancer / ब्रैस्ट कैंसर के प्रकार
Inflammatory breast cancer /सूजन स्तन कैंसर
Triple-negative breast cancer/ ट्रिपल-नकारात्मक स्तन कैंसर
Metastatic breast cancer
Male breast cancer
Pictures
Stages of breast cancer / ब्रैस्ट कैंसर के स्टेजेस
Diagnosis of breast cancer/ ब्रैस्ट कैंसर का निदान
Breast biopsy
Treatment of breast cancer
Breast cancer care
Prevalence
Risk factors of breast cancer
Survival rate of breast cancer
Prevention of breast cancer/ब्रैस्ट कैंसर के निवारण
Breast exam
Awareness of breast cancer

             ब्रैस्ट कैंसर (Overview)

कैंसर तब होता है जब उत्परिवर्तन (Mutation) नामक परिवर्तन जीन में होता है जो कोशिका वृद्धि को नियंत्रित करता है। उत्परिवर्तन कोशिकाओं को विभाजित करते हैं और अनियंत्रित तरीके उनेह कई भागो में बाँट देता है।
ब्रैस्ट कैंसर वह कैंसर है जो ब्रैस्ट कोशिकाओं में उत्पन्न होता है। कैंसर लोब्यूल्स या ब्रैस्ट के नलिकाओं में बनता है। लोब्यूल्स (lobules) वह ग्रंथियां (gland) हैं जो दूध का उत्पादन करती हैं, और नलिकाएं वे रास्ते हैं जो दूध (milk) को ग्रंथियों से निप्पल तक लाती हैं। कैंसर वसायुक्त ऊतक या आपके स्तन के भीतर रेशेदार संयोजी ऊतक में भी हो सकता है।
अनियंत्रित कैंसर कोशिकाएं (cancer cells) अक्सर अन्य स्वस्थ ब्रैस्ट ऊतक पर आक्रमण करती हैं और लिम्फ नोड्स (lymph nodes) की सहायता से बगल में भी पाए जा सकते है। लिम्फ नोड्स (lymph nodes) एक प्राथमिक मार्ग है जो कैंसर सेल्स को हमारे विभन्न भागों में पहुँचने में सहायता मदद करता है।

ब्रैस्ट कैंसर के लक्षण / Symptoms of breast cancer/breast cancer symptoms in hindi/breast cancer ke lakshan/sign of breast cancer in hindi

शुरुवाती दिनों में, ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer)का कोई लक्षण नहीं हो सकता है। कई मामलों में, एक ट्यूमर (tumour) महसूस होने के लिए बहुत छोटा हो सकता है, लेकिन भी एक मैमोग्राम टेस्ट की सहायता से ब्रैस्ट में उपलब्ध असामान्यता देखी जा सकती है। यदि एक ट्यूमर(tumour) महसूस किया जा रहा है, तो सबसे पहला संकेत आमतौर पर ब्रैस्ट में एक नई गांठ है जो पहले नहीं था। हालांकि, सभी गांठ(lumps) कैंसर (cancer) नहीं होते हैं।

प्रत्येक प्रकार के ब्रैस्ट कैंसर ((breast cancer)) विभिन्न प्रकार के लक्षण पैदा कर सकते हैं। इनमें से कई लक्षण समान (same) होते हैं, लेकिन कुछ अलग (different)भी हो सकते हैं। सबसे आम ब्रैस्ट कैंसर के लक्षणों (common breast cancer symptoms) में शामिल हैं:

एक ब्रैस्ट (breast) की गांठ (lump) या ऊतक का घना होना जो आसपास के ऊतक से अलग महसूस होता हो और हाल ही में विकसित हुआ है
ब्रैस्ट में दर्द महसूस होना (pain in breast)
स्तन की त्वचा का रंग लाल हो जाना (breast color changes to red)
आपके स्तन के सभी भाग में सूजन आ जाना (swelling in breast)
ब्रैस्ट के निपल स्त्राव
निप्पल से ब्लड निकलना (blood from nipple)
आपके निप्पल (nipple) या ब्रैस्ट पर त्वचा(skin) का छिलना
आपके स्तन के आकार में अचानक परिवर्तन (change in size of breast)
आपके ब्रैस्ट की त्वचा में बदलाव
आपकी बांह के नीचे एक गांठ (lump) या सूजन (swelling) का महसूस होना

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण हैं, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आपको ब्रैस्ट कैंसर है। फिर भी, यदि आप अपने ब्रैस्ट में गांठ (lump) पाते हैं या अन्य लक्षण हैं, तो आपको अपने चिकित्सक (doctor) को आगे की जांच (test) और परीक्षण के लिए दिखाना चाहिए।

ब्रैस्ट कैंसर के प्रकार / Types of breast cancer

ब्रैस्ट कैंसर कई प्रकार के होते हैं, और वे दो मुख्य श्रेणियों में विभाजित हैं: “इनवेसिव”(Invasive)और “नॉनवांसिव”(Noninvasive) या सीटू में। जबकि Invasive कैंसर breast नलिकाओं या ग्रंथियों से breast के अन्य भागों में फैल गया है, और Noninvasive कैंसर मूल ऊतक से नहीं फैला है।

इन दो श्रेणियों का उपयोग ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer) के सबसे सामान्य प्रकारों का वर्णन (describe) करने के लिए किया जाता है, जिनमें शामिल हैं:
1. डक्टल कार्सिनोमा इन सीटू (Ductul carcinoma in situ)
डक्टल कार्सिनोमा इन सीटू (DCIS) एक noninvasive स्थिति है। DCIS के साथ, कैंसर कोशिकाएं आपके breast में नलिकाओं तक ही सीमित रहती हैं और आसपास के breast ऊतक पर आक्रमण नहीं करती हैं।

2. लोब्युलर कार्सिनोमा इन सीटू (LCIS)
(LCIS) में लोब्यूलर कार्सिनोमा वह कैंसर है जो आपके ब्रैस्ट की दूध बनाने वाली ग्रंथियों में बढ़ता है। DCIS की तरह, कैंसर कोशिकाओं ने आसपास के ऊतक पर आक्रमण नहीं करता।

3. इनवेसिव डक्टल कार्सिनोमा (IDC)
इनवेसिव डक्टल कार्सिनोमा (ICD) स्तन कैंसर का सबसे आम प्रकार है। इस प्रकार का ब्रैस्ट कैंसर आपके ब्रैस्ट की नलिकाओं में शुरू होता है और फिर ब्रैस्ट में आस-पास के ऊतक (glands) पर आक्रमण करता है। एक बार ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer)आपके नलिकाओं के बाहर ऊतक में फैल गया, तो यह आस-पास के अन्य अंगों और ऊतक में फैलना शुरू कर सकता है।

4. इनवेसिव लोब्युलर कार्सिनोमा (ILC)
इनवेसिव लोब्युलर कार्सिनोमा (ILC) सबसे पहले आपके ब्रैस्ट के लोब्यूल्स में विकसित होता है और आस-पास के ऊतक पर आक्रमण करता है।

अन्य, ब्रैस्ट कैंसर ((breast cancer)) के आसामान्य प्रकारों (abnormal types) में शामिल हैं:

1. निपल का Paget रोग। इस प्रकार का ब्रेस्ट कैंसर (breast cancer) निप्पल के नलिकाओं (ducts of nipple) में शुरू होता है, लेकिन जैसे-जैसे यह बढ़ता है, यह निप्पल की त्वचा और घेरा को प्रभावित करना शुरू कर देता है।
Phyllodes ट्यूमर। यह बहुत ही दुर्लभ प्रकार का ब्रैस्ट कैंसर स्तन के संयोजी ऊतक में बढ़ता है। इनमें से ज्यादातर ट्यूमर सामान्य हैं, लेकिन कुछ कैंसर के हैं।

2. एनजीओसार्कोमा (Angiosarcoma)।
यह कैंसर है जो ब्रैस्ट में रक्त वाहिकाओं या लसीका वाहिकाओं (blood vessels or lymph vessels) पर बढ़ता है।
आपके कैंसर (cancer) का प्रकार आपके उपचार के विकल्प को निर्धारित (decide) करता है, साथ ही साथ आपके संभावित दीर्घकालिक परिणाम (long term result) भी।

इनफ्लेम्मेटरी ब्रैस्ट कैंसर / Inflammatory breast cancer(IBC)
इनफ्लेम्मेटरी ब्रैस्ट कैंसर (IBC) ब्रैस्ट कैंसर का एक दुर्लभ (rare) लेकिन आक्रामक (aggressive )प्रकार है।
इस स्थिति में , कोशिकाएं ब्रैस्ट के पास लिम्फ नोड्स (lymph nodes) को रोक देती हैं, इसलिए ब्रैस्ट में लिम्फ वाहिकाओं को ठीक से सुखाया नहीं जा सकता है। एक ट्यूमर बनाने के बजाय, IBC से ब्रैस्ट में सूजन आ जाता है, और लाल दिखने लगता है,और ब्रैस्ट, हल्का और मोटा दिखाई दे सकता है।

IBC बहुत आक्रामक हो सकता है और यह शरीर में जल्दी से फैल सकता है। यदि आपको कोई लक्षण दिखाई देता है, तो अपने चिकित्सक को तुरंत कॉल करना जरुरी है।
ट्रिपल-नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर / Triple-negative breast cancer
ट्रिपल-नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर एक अन्य दुर्लभ बीमारी है, जो ब्रैस्ट कैंसर से पीड़ित लगभग 10 से 20 प्रतिशत लोगों को ही प्रभावित करती है। ट्रिपल-नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर (Triple-negative breast cancer )के रूप का पता लगाने के लिए निम्नलिखित तीन विशेषताएं (three characteristics)होनी चाहिए:-

• इसमें एस्ट्रोजन रिसेप्टर्स (Estrogen receptors)की कमी हो जाती है। यदि एक ट्यूमर में एस्ट्रोजन रिसेप्टर्स हैं, तो एस्ट्रोजन कैंसर को बढ़ने के लिए उत्तेजित कर सकता है।
• इसकी सतह पर अतिरिक्त HER2 प्रोटीन नहीं होना चाहिए । HER2 एक प्रोटीन है जो स्तन कैंसर को फैलने में बढ़ावा देता है।
ट्रिपल-नेगेटिव ब्रैस्ट कैंसर (Triple-negative breast cancer )का इलाज करना मुश्किल है क्योंकि ब्रैस्ट कैंसर के लिए हार्मोनल थेरेपी (hormonal therapy)भी ज्यादा प्रभावी नहीं होती है।

मेटास्टेटिक ब्रैस्ट कैंसर / Metastatic breast cancer
स्टेज 4 ब्रैस्ट कैंसर (Stage 4 breast cancer) का दूसरा नाम मेटास्टैटिक ब्रैस्ट कैंसरहै। यह वह कैंसर है जो आपके ब्रैस्ट से आपके शरीर के अन्य भागों में फैल चुका है, जैसे कि आपकी हड्डियाँ, फेफड़े या यकृत।
पुरुष ब्रैस्ट कैंसर / Male breast cancer
हालाँकि यह आम तौर पर पुरुषो में कम होते हैं, पुरुषों में भी महिलाओं की तरह ही ब्रैस्ट ऊतक (breast tissue) होते हैं। पुरुषों को ब्रैस्ट कैंसर भी हो सकता है, लेकिन यह बहुत दुर्लभ है।
पुरुषों को जो ब्रैस्ट कैंसर होता है, वह उतना ही गंभीर है जितना की महिलाओ में ब्रैस्ट कैंसर। इसके भी एक ही लक्षण (same symptoms) होते हैं।

ब्रैस्ट कैंसर की छबि / images

ब्रैस्ट कैंसर (Breast cancer) के लक्षणों की एक श्रृंखला (series) होती है, और ये लक्षण अलग-अलग लोगों में अलग-अलग दिखाई दे सकते हैं।

ब्रैस्ट कैंसर के चरण / Breast cancer stages/breast cancer stages in hindi

ट्यूमर (tumour) कितना बड़ा है और यह कितना फैल चुका है, इसके आधार पर ब्रैस्ट कैंसर (Breast cancer) के चरणों को विभाजित किया गया है। कैंसर जो बड़े और / या आस-पास के ऊतकों (tissue) या अंगों पर आक्रमण करते हैं वे कैंसर की तुलना में एक उच्च स्तर पर होते हैं जो छोटे और / या अभी भी ब्रैस्ट में निहित होते हैं। ब्रैस्ट कैंसर के चरणो को जानने के लिए, डॉक्टरों को यह जानना आवश्यक है:

ब्रैस्ट कैंसर के पांच मुख्य चरण हैं (five stages of breast cancer): चरण 0 से 5
1. स्टेज 0 ब्रैस्ट कैंसर
स्टेज 0 डीसीआईएस (DCIS) है। DCIS में कैंसर कोशिकाएं स्तन में नलिकाओं तक ही सीमित रहती हैं और पास के ऊतक में नहीं फैलती हैं।

2. स्टेज 1 ब्रैस्ट कैंसर
• स्टेज 1A : प्राथमिक ट्यूमर 2 सेंटीमीटर चौड़ा या कम होता है और लिम्फ नोड्स प्रभावित नहीं होते हैं।
• स्टेज 1B : इसमें कैंसर पास के लिम्फ नोड्स में पाया जाता है, और या तो ब्रैस्ट में कोई ट्यूमर नहीं होगा, या ट्यूमर 2 सेमी से छोटा होगा ।

3. स्टेज 2 ब्रैस्ट कैंसर
• स्टेज 2A : ट्यूमर 2 सेमी से छोटा होगा है और पास के लिम्फ नोड्स में 1 से 3 तक फैल गया जाएगा, या यह 2 से 5 सेमी के बीच होगा और किसी भी लिम्फ नोड्स (lymph node)में नहीं फैलेगा ।
• स्टेज 2B : इसमें ट्यूमर 2 से 5 सेमी के बीच होगा और यह 1–3 एक्सिलरी (बगल) लिम्फ नोड्स में फैल गया होगा, या यह 5 सेमी से बड़ा है और किसी भी लिम्फ नोड्स (lymph node) में नहीं फैला (spread)होगा ।

4. स्टेज 3 ब्रैस्ट कैंसर
• स्टेज 3A : इस कैंसर मैं 4–9 एक्सिलरी लिम्फ नोड्स में या आंतरिक ब्रैस्ट ग्रंथि लिम्फ नोड्स बढ़ जाता है, और प्राथमिक ट्यूमर किसी भी आकार का हो सकता है।
• स्टेज 3B : इस स्टेज में कैंसर ट्यूमर ने छाती पर होता या त्वचा पर हमला किया है
• स्टेज 3C : इसमे कैंसर 10 या अधिक लिम्फ नोड्स, कॉलरबोन के पास लिम्फ नोड्स या आंतरिक ब्रैस्ट नोड्स में पाया जाता है।

5. स्टेज 4 ब्रैस्ट कैंसर
• स्टेज 4 ब्रैस्ट कैंसर (stage 4 breast cancer) में किसी भी आकार का एक ट्यूमर हो सकता है, और इसकी कैंसर कोशिकाएं पास और दूर के लिम्फ नोड्स के साथ-साथ दूर के अंगों तक फैल ज़ाती हैं।

ब्रैस्ट कैंसर का निदान / Diagnosis

यह निर्धारित करने के लिए कि आपके लक्षण ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer) के है या नहीं, आपका डॉक्टर ब्रैस्ट परीक्षा (breast examination) करेगा। वे आपके लक्षणों को समझने के लिए एक या एक से अधिक नैदानिक परीक्षणों (diagnosis test)कराने को कह सकते हैं।

breast-cancer-ka-ilaj
ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer) के निदान में मदद करने वाले टेस्ट (test) में शामिल हैं:-

mammography meaning in hindi/mammography test in hindi/mammography kya hai

• मैमोग्राम/Mammogram मैमोग्राफी की अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें। 
आपके ब्रैस्ट का परीक्षण करने का सबसे आम तरीका एक इमेजिंग टेस्ट (imaging test) होता है जिसे मैमोग्राम Mammogramकहा जाता है। 40 और उससे अधिक उम्र की कई महिलाओं को ब्रैस्ट कैंसर की जांच के लिए वार्षिक मैमोग्राम कराना होता है। यदि आपके डॉक्टर को संदेह है कि आपको एक ट्यूमर (tumor) है, तो वे एक मेमोग्राम Mammogramकराने के लिए कहेंगे। यदि आपके मैमोग्राम Mammogram पर कोई असामान्य क्षेत्र दिखाई देता है, तो आपका डॉक्टर अतिरिक्त परीक्षणों के लिए कह सकते है।

• अल्ट्रासाउंड/Ultrasound
इसमें ब्रैस्ट अल्ट्रासाउंड आपके ब्रैस्ट में गहरे ऊतकों (deep tissues)की तस्वीर बनाने के लिए ध्वनि तरंगों का उपयोग करता है। एक अल्ट्रासाउंड आपके डॉक्टर को एक ठोस द्रव्यमान, जैसे कि ट्यूमर,और एक सामान्य गांठ (normal lump ) के बीच अंतर करने में मदद कर सकता है।

आपका डॉक्टर एमआरआई या स्तन बायोप्सी (biopsy) जैसे परीक्षण कराने को भी कह सकते है

ब्रैस्ट की बायोप्सी / Breast biopsy
यदि आपके डॉक्टर को ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer) का संदेह है, तो वे मैमोग्राम और अल्ट्रासाउंड दोनों कराने का आदेश दे सकते हैं। यदि ये दोनों परीक्षण आपके डॉक्टर को बताएंगे कि क्या आपको कैंसर है, तो आपका डॉक्टर ब्रैस्ट बायोप्सी (Breast biopsy) नामक एक परीक्षण कराने को कहेंगे।

इस परीक्षण के दौरान, आपका डॉक्टर परीक्षण करने के लिए संदिग्ध क्षेत्र से एक ऊतक (tissue) का नमूना लेंगे। ब्रैस्ट बायोप्सी Breast biopsy के कई प्रकार हैं। इन परीक्षणों में से कुछ के साथ, आपका डॉक्टर ऊतक का नमूना लेने के लिए एक सुई का उपयोग करते है। दूसरों के साथ, वे आपके ब्रैस्ट में एक चीरा (cut) बनाते हैं और फिर नमूना निकालते हैं।

आपका डॉक्टर ऊतक के नमूने को जाँच के लिए एक प्रयोगशाला (laboratory) में भेज देंगे । यदि नमूना कैंसर के लिए सकारात्मक परीक्षण (positive result)करता है, तो प्रयोगशाला आपके डॉक्टर को यह बताने के लिए आगे की जाँच कर सकती है कि आपको किस प्रकार का कैंसर है।

ब्रैस्ट कैंसर का इलाज / Treatment of breast cancer /breast cancer ka ilaj in hindi/breast cancer ka ilaj

आपके ब्रैस्ट कैंसर का चरण (stage of breast cancer), यदि है, और ट्यूमर कितना बड़ा हो गया है, यह निर्धारित करता है कि आपको किस तरह के उपचार की आवश्यकता है।

ब्रैस्ट कैंसर breast cancer के लिए सर्जरी (surgery)सबसे आम उपचार है। कई महिलाओं के पास अतिरिक्त उपचार होते हैं, जैसे कि कीमोथेरेपी (chemotherapy,), लक्षित चिकित्सा, विकिरण या हार्मोन थेरेपी (hormone therapy)।

 

सर्जरी / Surgery
ब्रैस्ट कैंसर breast cancer को दूर करने के लिए कई प्रकार की सर्जरी (surgery) का उपयोग किया जा सकता है, जिसमें शामिल हैं:

• लुम्पेक्टोमी / Lumpectomy
यह प्रक्रिया ट्यूमर (tumour)और कुछ आसपास के ऊतकों (tissue) को हटा देती है, जिससे ब्रैस्ट के बाकी हिस्से को बरकरार रखा जाता है।

• मास्टेक्टॉमी / Mustectomy
इस प्रक्रिया में, एक सर्जन एक पूरे स्तन (breast) को निकाल देता है। एक डबल मास्टेक्टॉमी में, दोनों स्तनों (both breast) को हटा दिया जाता है।

• सेंटिनल नोड बायोप्सी / Sentinel node biopsy
यह सर्जरी कुछ लिम्फ नोड्स (lymph node) को हटाती है जो ट्यूमर (tumour) से अपवाह प्राप्त करते हैं।

• एक्सिलरी लिम्फ नोड विच्छेदन / Axillaries lymph node dissection
यदि एक सेनिटल नोड बायोप्सी (senital node biopsy) के दौरान निकाले गए लिम्फ नोड्स में कैंसर कोशिकाएं होती हैं, तो इस प्रक्रिया में आपका डॉक्टर अतिरिक्त लिम्फ नोड्स (lymph node)भी निकाल सकता है।

• विरोधाभासी रोगनिरोधी मास्टेक्टॉमी / Contraletaral prophylactic
यह सर्जरी आपके स्वस्थ ब्रैस्ट (healthy breast) को हटाकर स्तन कैंसर (breast cancer) के फिर से विकसित होने के जोखिम को कम क्र दिया जाता है।

• कीमोथेरपी / Chemotherapy
कीमोथेरेपी एक दवा है जिसका उपयोग कैंसर कोशिकाओं (cancer cells)को ख़तम करने के लिए किया जाता है। कुछ लोग अपने आप ही कीमोथेरेपी (self chemo) से गुजर सकते हैं, लेकिन इस तरह के उपचार का उपयोग, विशेष रूप से सर्जरी (surgery) के साथ किया जाता है।

कुछ मामलों में, डॉक्टर सर्जरी से पहले मरीजों को कीमोथेरेपी Chemotherapyदेना सही समझते हैं। उम्मीद यह होती है कि उपचार ट्यूमर tumour को सिकोड़ देगा,कीमोथेरेपी Chemotherapy के कई अवांछित दुष्प्रभाव हैं,

• हार्मोन थेरेपी / Hormone therapy
यदि आपके ब्रैस्ट कैंसर का प्रकार हार्मोन के प्रति संवेदनशील (sensitive to hormones) है, तो आपका डॉक्टर आपकी हार्मोन थेरेपी शुरू कर सकता है। एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन (Estrogen and progesterone), दो महिला हार्मोन, ब्रैस्ट कैंसर के ट्यूमर के विकास को उत्तेजित कर सकते हैं। यह क्रिया धीमी गति (slow speed) से मदद कर सकती है और संभवतः आपके कैंसर के विकास को रोक सकती है।

दवाएं / Medications

कुछ उपचार कैंसर कोशिकाओं (cancer cells)के भीतर विशिष्ट असामान्यताओं या उत्परिवर्तन पर हमला करने के लिए बनाए गए हैं। उदाहरण के लिए, Herceptin (trastuzumab) आपके शरीर के HER2 प्रोटीन के उत्पादन को रोक सकता है। HER2 ब्रैस्ट कैंसर कोशिकाओं को बढ़ने में मदद करता है, इसलिए इस प्रोटीन के उत्पादन को धीमा करने के लिए दवा लेने से कैंसर के विकास को धीमा करने (slow cancer growth)में मदद मिल सकती है।

आपका डॉक्टर (doctor) और अच्छे से आपको किसी भी विशिष्ट उपचार (specific treatment)के बारे में बताएगा जो वे आपके लिए जरुरी होता हैं।

ब्रैस्ट कैंसर की देखभाल / Care of breast cancer

यदि आप आपको अपने ब्रैस्ट में कोई असामान्य गांठ या जगह (unusual lump or spot in your breast) का महसूस होता हैं, या ब्रैस्ट कैंसर के कोई अन्य लक्षण हैं, तो आपको तुरन्त डॉक्टर से मिलना चाइये |

लेकिन अगर आपकी समस्या कैंसर के रूप में सामने आती है, तो ध्यान रखें कि शुरुआती उपचार ही महत्वपूर्ण है (early treatment is the key)। प्रारंभिक अवस्था में ब्रैस्ट कैंसर का अक्सर इलाज किया जा सकता है और ठीक किया जा सकता है अगर ब्रैस्ट कैंसर को लंबे समय (long term) तक बढ़ने दिया जाता है,तो वह उतना ही कठिन उपचार बन जाता है।

ब्रैस्ट कैंसर कितना सामान्य है? / How common is breast cancer

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC ) के विश्वसनीय स्रोत के अनुसार, महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर सबसे आम कैंसर है। ACS के आंकड़ों के अनुसार, संयुक्त राज्य अमेरिका में 2019 में आक्रामक ब्रैस्ट कैंसर के लगभग 268,600 नए मामलों का निदान होने की उम्मीद है। इनवेसिव ब्रैस्ट कैंसर वह कैंसर है जो ब्रैस्ट ग्रंथियों से ब्रैस्ट के अन्य भागों में फैल गया है। बीमारी से 41,000 से अधिक महिलाओं के मरने की आशंका है।

पुरुषों में भी ब्रैस्ट कैंसर पाया जा सकता है। ACS का यह भी अनुमान है कि 2019 में, 2,600 से अधिक पुरुषों का निदान किया जाएगा, और लगभग 500 पुरुष बीमारी से मर सकते है

ब्रैस्ट कैंसर के जोखिम कारक / Risks factor of breast cancer

इसके कई जोखिम कारक (risk factors) हैं जो ब्रैस्ट कैंसर breast cancer होने की संभावना को बढ़ाते हैं। हालाँकि, इनमें से किसी का भी मतलब नहीं है कि आप निश्चित रूप से breast cancer का विकास करेंगे।

कुछ जोखिम वाले कारकों (risk factors) से बचा नहीं जा सकता है, जैसे किfamily history। आप धूम्रपान जैसे अन्य जोखिम कारक को बदल सकते हैं। ब्रैस्ट कैंसर के जोखिम कारकों में शामिल हैं:

• उम्र / Age
आपकी उम्र बढ़ने के साथ ब्रैस्ट कैंसर (breast cancer) विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है। 55 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं में ज्यादातर आक्रामक (invasive) ब्रैस्ट कैंसर पाए जाते हैं।

• दारू पीना / Drinking Alcohol
Excessive अत्यधिक मात्रा में शराब (Alcohol ) पीने से भी आपका जोखिम बढ़ जाता है।

• घने ब्रैस्ट ऊतक होना / Having dense breast tissue
घने ब्रैस्ट ऊतक (dense breast tissue) मैमोग्राम होने से आपके परीक्षण की अच्छे से जाँच करने में कठिनाई होती है। यह आपके ब्रैस्ट कैंसर breast cancer के खतरे को भी बढ़ाता है।

• लिंग / Gender
गोरे पुरुषों की तुलना में सफेद महिलाओं (white females) में ब्रैस्ट कैंसर होने की संभावना 100 गुना अधिक होती है, और अश्वेत पुरुषो की तुलना में अश्वेत महिलाओं (black females) में ब्रैस्ट कैंसर होने की संभावना 70 गुना (70 times) अधिक होती है।

• जीन / Gene
जिन महिलाओं में BRCA 1 और BRCA 2 जीन उत्परिवर्तन होता है उनमें स्तन कैंसर होने की संभावना सामान्य महिलाओं की तुलना में अधिक होती है

• अधिक उम्र में जन्म देना / Giving birth at an older age
जिन महिलाओं को 35 वर्ष की आयु तक अपना पहला बच्चा (first baby) नहीं होता, उन्हें ब्रैस्ट कैंसर breast cancer का खतरा बढ़ जाता है।

• हार्मोन थेरेपी / Hormone therapy
जो महिलाएं पोस्टमेनोपॉज़ल एस्ट्रोजन (postmenopausal estrogen) और प्रोजेस्टेरोन दवाएं ले रही हैं या ले रही हैं उनमें ब्रैस्ट कैंसर का खतरा अधिक होता है।

• वंशागत खतरा / Inherited risk
यदि आपके किसी करीबी महिला रिश्तेदार को ब्रैस्ट कैंसर हुआ है, तो आपकोयह आपको होने का खतरा बढ़ जाता है। इसमें आपकी माँ, दादी, बहन या बेटी शामिल हैं। यदि आपको ब्रैस्ट कैंसर breast cancer का family history नहीं है, तो भी आप ब्रैस्ट कैंसर का विकास कर सकते हैं।

• देर से रजोनिवृत्ति होना / Late menopause start
जिन महिलाओ 55 साल की उम्र तक रजोनिवृत्ति (menopause ) नहीं होती हैं उनमें ब्रैस्ट कैंसर breast cancer होने की संभावना अधिक होती है।

• कभी गर्भवती नहीं होना / Never being pregnant
जो महिलाएं कभी गर्भवती नहीं हुई (Never being pregnant) या उन्होंने कभी भी पूर्ण अवधि तक गर्भ धारण नहीं किया, उनमें ब्रैस्ट कैंसर होने की अधिक संभावना है।

स्तन कैंसर में जीवित रहने की दर / Survival rate of breast cancer

अच्छी बात यह है कि ब्रैस्ट कैंसर के जीवित रहने की दर में सुधार हो रहा है। एसीएस के अनुसार, 1975 में, महिलाओं में ब्रैस्ट कैंसर के लिए 5 साल की जीवित रहने की दर 75.2 प्रतिशत थी। लेकिन 2008 और 2014 के बीच महिलाओं के लिए यह 90.6 प्रतिशत था।

स्तन कैंसर की रोकथाम / Prevention of breast cancer

हालांकि, इसके ऐसे जोखिम कारक (risk factors) हैं जिन्हें आप नियंत्रित control नहीं कर सकते हैं, एक स्वस्थ जीवन शैली का पालन करना, नियमित रूप से जांच करवाना और आपके डॉक्टर doctor द्वारा की जाने वाली कोई भी निवारक उपाय (preventive measures) करने से आपके ब्रैस्ट कैंसर के विकास के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है।

ब्रैस्ट कैंसर की जांच / Screening of breast cancer
नियमित मैमोग्राम regular mammogram कराने से ब्रैस्ट कैंसर को रोका नहीं जा सकता है, लेकिन यह उन बाधाओं को कम करने में मदद कर सकता है जो कि अनिर्धारित हो जाएंगे। मैमोग्राम के लिए ACS निम्नलिखित सामान्य सिफारिशें प्रदान करता है:

• महिलाओं की उम्र 40 से 44: एक वार्षिक मेम्मोग्राम कराना चाहिए।
• महिलाओं की उम्र 45 से 54: एक वार्षिक मेम्मोग्राम की आवशयकता होती है।
• महिला 55 और उससे अधिक उम्र: हर 1 या 2 साल में एक मेमोग्राम कराना चाहिए

निवारक उपचार / Preemptive treatment of breast cancer

कुछ महिलाओं को वंशानुगत कारकों के कारण ब्रैस्ट कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। उदाहरण के लिए, यदि आपके माता या पिता के पास BRCA 1 या BRCA 2 जीन उत्परिवर्तन gene mutation है, तो आपको इसके होने का अधिक खतरा है। इससे आपके ब्रैस्ट कैंसर breast cancer का खतरा काफी बढ़ जाता है।

आपके डॉक्टर द्वारा ब्रैस्ट परीक्षा /Breast examination by Dr.

ऊपर दिए गए विकल्प खुद परीक्षा (Self Examination) करने के लिए आपके डॉक्टर या अन्य स्वास्थ्य सेवा द्वारा किए गए ब्रैस्ट परीक्षा के लिए सही हैं। वे आपको किसी प्रकार की कोई हानि नहीं पहुँचा सकते हैं, और आपका डॉक्टर साल में दो बार ब्रैस्ट परीक्षण (Examination) कर सकता है।

यदि आपको ऐसे लक्षण दिखाई देते हैं जो आपकी चिंता का विषय बन सकते हैं, तो यह एक अच्छा विचार है कि आपको डॉक्टर से ब्रैस्ट परीक्षण (Examination) कराना चाइये । परीक्षा के दौरान, आपका डॉक्टर असामान्य ब्रैस्ट या ब्रैस्ट कैंसर के संकेतों के लिए आपके दोनों ब्रैस्ट की जाँच करेगा। आपका डॉक्टर यह देखने के लिए आपके शरीर के दुसरे भागो (Parts) का भी टेस्ट कर सकते है यह जानने के लिए की आपको जो लक्षण (Symptoms) हैं वह सामान्य है या नहीं।

Leave a Comment